Saturday, March 24, 2012

बुराई और अच्छाई मिल कर रहने लगे ......

उस अच्छी सी लड़की को ,
उस बुरे से लड़के से प्यार हो गया...
बे अंदाज़ा ...
बे इख़्तियार ...
उस बुरे से लड़के को भी .
उस अच्छी सी लड़की से हो गया प्यार ,
बे शुमार ,
बे हिसाब ,
लड़का बोला " मैं बदलना चाहता हूँ " ..
तेरे प्यार में ,
तेरे कारण,
तेरे लिए ,
लड़की खिज़ायी..
" अगर बदलना पड़े तो ,
फिर कहाँ रहा प्यार ,
यह तो हो गया व्यापार "....
जैसे हो तुम मुझे ,
वेसे ही बहुत पसंद हो ..
लड़का बोला -----
" तुम कितनी बुरी हो "
लपक कर चूम लिया लड़की को
और तब से
बुराई और अच्छाई मिल कर रहने लगे .......
 

9 comments:

  1. it is very much difficult to live together
    and suppose it happened than it grace of GOD
    LETS HOPE.
    NICE POST .

    ReplyDelete
  2. प्यार की खुबसूरत अभिवयक्ति........

    ReplyDelete
  3. प्यार में सब कुछ होता है ... इसे ही तो प्यार कहते हैं ...

    ReplyDelete
  4. pyaar mein kabhi-kabhi aisa ho jata hai.....
    :)

    ReplyDelete
  5. कुछ अलग सा कुछ नया सा......शानदार।

    ReplyDelete